advertisment

आज हम जानेंगे की RAM और ROM क्या है यह हमारे क्या काम आती है |

 

what-is-a-ram-how-does-it-works

आज हम जानेंगे की RAM और ROM क्या है यह हमारे क्या काम आती है |

आज हम जानेंगे की RAM और ROM क्या है यह हमारे क्या काम आती है | आज कल आपने सभी ने RAM और  ROM के बारे में सुना होगा |

आपने देखा होगा की जब कोई भी व्यक्ति मोबाईल फोन लेता है तो मोबाईल लेते समय वह रैम और रोम पर विशेष ध्यान देता है | हम जब कोई भी फोन लेते है तो हम उसमें ज्यादा से ज्यादा रैम लेने की सोचते है| इससे पता चलता है की जितनी ज्यादा रैम मोबाईल या और किसी भी डिवाइस में होती है तो वह उतना ही ज्यादा कार्य कर पता है तो आइए जानते है रैम के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें जैसे रैम कैसे कार्य करती है रैम के कितने प्रकार होते है और भी बहुत सी बातों के बारे में –

हम जानेंगे की –

रैम क्या है ?

रैम का पूरा नाम क्या है ?

रैम कितनी प्रकार की होती है ?

  • रैम क्या है –

रैम को समझने के लिए हमें कुछ उदाहरण लेने पड़ेंगे जैसे जब हम कोई काम करते है तो हमें जिस काम को करना होता है | हम उसी फाइल को उठाते है जिस फाइल में हमारा कोई कार्य होता है |  उस फाइल को उठाने के लिए हम वहाँ पर जाना पड़ता है जहां वह फाइल रखी होती है | फिर हम जितना भी कार्य होता उसको करने के लिए फाइल को डेस्क पर रखकर करते है |

उसी प्रकार का कार्य रैम का होता है जो हमने कमरा माना था उसे हम internal memory मान सकते है जिसमें हम अपनी सारी फाइल और अप्प्स को स्टोर करके रखते है | ओर जिसको हमने डेस्क माना था उसको रैम समझ सकते है |

जब भी हम किसि फाइल को खोलते है तो वह बहुत ही जल्दी open हो जाती है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जितनी ज्यादा रैम होती है किसी भी apps या फाइल को खुलने में उतना ही कम समय लगता है |

जब भी हम किसी फाइल या apps को डाउनलोड करके इंस्टॉल करते है तो वह रैम में इंस्टॉल न होकर फोन या computer की internal memory जाकर सेव होती है |

जरूरत पड़ने पर जब भी हम उस apps या game को प्ले करने के लिए ओपन करते है तो वह उस डिवाइस की रैम में ओपन होता है | और उस डिवाइस की रैम और CPU के बीच सूचना का आदान – प्रदान होता है |

पर जब भी हम किसी बड़े गेम या apps को अपने computer या mobile में run करते है तो device की रैम कम होने के कारण वह apps अटकने लगता है और वह computer हैंग होने लगता है |

  • रैम का पूरा नाम क्या है –

पहले पेराग्राफ में हमने समझा की रैम क्या है अब हम जानेंगे की रैम का पूरा नाम क्या है यदि आपको रैम का पूरा नाम पता है तो कमेन्ट करे अगर आपको इसके बारे में पता नहीं है तो मैं आपको इसके बारे में बताऊँगा –

RANDOM ACCESS MEMORY

  • रैम कितने प्रकार की होती है –

पहले हम पढ़ चुके है की रैम क्या होती है | रैम का पूरा नाम क्या होता है और अब हम जानेंगे की रैम कितने प्रकार की होती है | तो आइए जानते है –

रैम दो प्रकार की होती है

1. SRAM

2. DRAM

 

1. SRAM-

पहले जानते है की SRAM क्या होती है और इसका क्या कार्य होता है तो सबसे पहले जानते है SRAM पूरा नाम क्या होता है तो चलिए जानते है –

STATIC RANDOM ACCESS MEMORY

डिवाइस के बंद हो जाने पर इस रैम में उपस्थित डाटा भी खो जाता है ये डाटा को तेजी से एक्सेस करती है जिससे किसी भी गेम या एप को ओपन होने में ज्यादा समय नहीं लगता है | इसे chache मेमोरी भी कहा जाता है | यह रैम flip , flop से मिलकर बनी होती है | इसे ज्यादा रिफ्रेश करने की जरूरत नहीं होती है |

2. DRAM –

अब जानते है DRAM के बारे में तो जानते है सबसे पहले इसके पूरे नाम के बारे में –

DYNAMIC RANDOM ACCESS MEMORY

ये रैम SRAM के मुकाबले में थोड़ी हल्की होती है इस रैम को बार बार रिफ्रेश करना पड़ता है इस रैम को डाटा एक्सेस करने मे थोड़ा-सा टाइम जरूर लगता है ये रैम SRAM के मुकाबले हल्की और सस्ती होती है अधिकतर डिवाइस में इसी रैम का प्रयोग किया जाता है |

 

 

 

 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां